Posts

Featured post

20 Kg Weight Loss in 20 Days in Hindi

Image
 SLIMFITS Ayurvedic formula helps you loose weight naturally and Easily! You will see amazing results with new confidence in yourself after loosing weight. Imagine for a minute how you will feel by getting slim and fit: You’ll radiate confidence and achievement at whenever point you go into any room, office, etc., and people will look at your new look with real jealousy. SLIMFITS आयुर्वेदिक दवा आपको स्वाभाविक रूप से और आसानी से वजन कम करने में मदद करता है! आप वजन कम करने के बाद अपने आप में नए आत्मविश्वास के साथ अद्भुत परिणाम देखेंगे। एक मिनट के लिए कल्पना करें कि आप स्लिम और फिट होकर कैसा महसूस करेंगे: जब भी आप किसी भी कमरे, कार्यालय आदि में जाते हैं, तो आप आत्मविश्वास और उपलब्धि प्राप्त करेंगे, और लोग आपके नए रूप को वास्तविक ईर्ष्या से देखेंगे। आज हम आपके लिए एक ऐसी दवाई लेकर आये जो आपको मात्र 20 दिन में स्लिम और फिट बना देगी।  Benefits of SLIMFITS Ayurvedic  Loose Weight (वजन घटायें) Helps you to Loose weight बजन घटाने में सहायता करता है Shape-up your Body (आकार सुधारें) Shapes &

पैरों के तलवों की जलन से इन घरेलू तरीकों से पाएं निजात

Image
पैरों के तलवों की जलन की दवा, पैर के तलवों की जलन, पैरों के तलवों की जलन के लिए, पैरों के तलवों की जलन की दवा बताएं, पैरों के तलवों में जलन, पैरों के तलवों में जलन क्यों होती है, पैरों के तलवों में जलन होना, पैरों के तलवों में जलन का इलाज, पैरों के तलवों की जलन से इन घरेलू तरीकों से पाएं निजात कई बार लोगों को पैर के तलवों में जलन (Burning soles) की दिक्कत हो जाती है. इस जलन की वजह से चलने-फिरने और खड़े होने में पैरों में दर्द और चुभन भी महसूस होती है. आप इस जलन से निजात पाने (Get rid of burning) के लिए यहां बताये जा रहे इन घरेलू तरीकों (Home Remedies) को अपना सकते हैं. आइये जानते हैं इनके बारे में. नमक के पानी से सिकाई करें तलवों में जलन से निजात पाने के लिए आधी बाल्टी गुनगुने पानी में दो चम्मच सेंधा नमक मिला लें. इस पानी में अपने पैरों को डालकर बीस मिनट तक बैठें. फिर सूखे कपड़े से पैरों को पोछकर सरसों का तेल लगा लें. ऐसा एक सप्ताह तक लगातार करें. इससे राहत मिलती है यात्रा के दौरान उल्टी के लिए दवा, पतंजलि उल्टी की दवा, बस में उल्टी रोकने की दवा, पेट दर्द और उल्टी के लिए घर उपचार, उल्

उल्टियों को रोकने के लिए अपनाये ये आर्युवेदिक नुस्खे

Image
  यात्रा के दौरान उल्टी के लिए दवा, पतंजलि उल्टी की दवा, बस में उल्टी रोकने की दवा, पेट दर्द और उल्टी के लिए घर उपचार, उल्टी रोकने के घरेलू उपाय इन हिंदी, उल्टी होने के बाद क्या खाना चाहिए, बुखार में उल्टी रोकने के उपाय, उल्टियों को रोकने के लिए अपनाये ये आर्युवेदिक नुस्खे उल्टियाँ होने के कई कारण होते हैं । अधिक या दूषित खाना खाना, बीमारी, गर्भावस्था, मदिरापान, विषाणुजनित संक्रमण, उदर का संक्रमण, ब्रेन ट्यूमर, मष्तिष्क में चोट, इत्यादि। उल्टियाँ होने के एहसास को मतली के नाम से जाना जाता है, लेकिन यह उल्टियाँ आने से पहले का एहसास होता है, कारण नहीं। अक्सर उल्टिया होते समय पेट को बहुत ही तकलीफों का सामना करना पड़ता है। क्योकि इससे पेट के सभी अंगो पर बहुत जब पेट के पदार्थों का पूरे जोश के साथ मुंह और नाक के ज़रिये निष्काशन होता है, तो उस प्रक्रिया को उल्टियों क नाम से जाना जाता है। उल्टी के इलाज के लिए 8 आयुर्वेदिक तरीके के बारे में जानते है। कार्बोनेट रहित सिरप – उल्टियों को बंद करने के लिए एक बहुत ही उम्दा उपाय है और वह है किसी कार्बोनेट रहित सिरप का एक या दो चम्मच सेवन करना। इससे पाचन

सुबह-सुबह उठते ही अगर महिलाए कर ले ये कामं, तो हमेशा रहेगी जवान

Image
  इंसान जब कोई काम करने जाता है और आगाज अच्छा हो तो उसका परिणाम भी अच्छा होता है. यही बात हमारे दिन की शुरुआत पर भी अप्लाई होता है. घर की दशा महिलाओ के मूड पर निर्भर करता है क्योंकि यदि सुबह-सुबह कुछ अनहोनी हो जाए तो पूरा दिन बेकार जाता है.  सुबह-सुबह उठते ही अगर महिलाए कर ले ये कामं, तो हमेशा रहेगी जवान हिन्दू धर्म के मुताबिक शास्त्रों में भी सुबह की बेला को लेकर कई बातें बताई गई है जिसका पालन अगर सभी स्त्रियां करें तो उनका दिन अच्छा जाएगा. चूकि स्त्री ही घर को सवांरती है और लक्ष्मी के प्रवेश का कारण बनती है. इसलिए हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे काम जो सुबह उठते ही हर स्त्री को पूरा करना चाहिए… आंख खुलते ही भगवान का ध्यान शास्त्रों में बताया गया है कि हर स्त्री को सुबह नयन खुलते ही इष्टदेव को याद करते हुए हाथ जोड़ना चाहिए. अगर आप ऐसा करती हैं तो पूरा दिन मन शांत रहेगा साथ ही हर काम बिना बाधा के पूर्ण होगा. इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि पहले इष्टदेव की आराधना और नमन करें तब ही जमीन पर पैर रखें. पियें गर्म पानी सिर्फ महिलाएं ही नही बल्कि हर व्यक्ति को चाहिए कि सुबह उठने के बाद बिना ब्र

प्रेगनेंसी रोकने के घरेलू उपाय अपनाएं, ये खास टिप्‍स

Image
  कैसे नवविवाहित जोड़े के लिए गर्भावस्था से बचने के, कितने दिन की अवधि के बाद सुरक्षित है हिंदी में गर्भावस्था से बचने के,प्रेगनेंसी रोकने के घरेलू उपाय, प्रेगनेंसी रोकने के लिए टेबलेट, गर्भ कब नहीं ठहरता है, प्रेग्नेंट होने के लिए कब सम्बन्ध बनाना चाहिए, गर्भ न ठहरने की दवा अकसर सेक्‍स के दौरान महिलाओं को प्रेगनेंसी का डर लगा रहता है। पर क्‍या आप जानते हैं कि सेक्‍स में इंटरकोर्स के अलावा फोरप्‍ले और आफ्टरप्‍ले का भी खास आनंद हैं। साथ ही कुछ ऐसे तरीके भी हैं जिन्‍हें आजमा कर आप प्रेगनेंसी के डर से मुक्ति पा सकती हैं। प्रेगनेंसी रोकने के घरेलू उपाय अपनाएं, ये खास टिप्‍स लव बाइट:   आप गर्भवती नहीं होंगी अगर आपका साथी आपको लव बाइट देता है यानि वह आपकी गर्दन पर चुम्बन करता हैं और आपको हिक्की देता हैं तो आप प्रेगनेंट नहीं होगीं। हालांकि यह आपको सेक्स के लिए उत्तेजित कर सकता है परन्तु आप इससे आप गर्भवती नहीं होगी। इस वजह से ज्यादातर मर्दों को पसंद आती है अपने से ज्यादा उम्र की लड़कियां साथ का स्‍पर्श:   आप गर्भवती नहीं होंगी यदि आपका साथी पहली बार आपके ऊपर सोता है आपको शायद आपको यह लगे की आप

तेजी से बढ़ेगी इम्यूनिटी, कम होगा कोरोना का खतरा ये डाइट प्लान करें फॉलो..

Image
  अपनी जीवनशैली (Lifestyle ) में बदलाव कर रहे हैं और खुद को फिट रखने के लिए व्यायाम (Excersize) और खाने-पीने पर ध्यान दे रहे हैं। ऐसे में, केंद्र सरकार ने भी प्रकोप के दौरान नेचुरल इम्यूनिटी (Natural immunity) बढ़ाने के लिए कुछ खाने की लिस्ट जारी की है। तेजी से बढ़ेगी इम्यूनिटी, कम होगा कोरोना का खतरा ये डाइट प्लान करें फॉलो.. बता दें कि कोरोना से पीड़ित इंसान को न महक आती है और न ही किसी चीज में स्वाद। इसके साथ ही, उनकी भूख और खाना चबाने की क्षमता भी खत्म होती है। इससे मांसपेशियों को नुकसान पहुंचता है, इसलिए सरकार ने नियमित अंतराल पर नरम चीजों का सेवन करने और आहार में अमचूर (सूखा आम) शामिल करने की सिफारिश की है। जारी इन दिशानिर्देशों में लिखा गया है, कि कोरोना मरीजों के लिए मुख्य ध्यान उन खाद्य पदार्थों का सेवन करना है जो मांसपेशियों, इम्यूनिटी और ऊर्जा के स्तर को फिर से बनाने में मदद करें। साबुत अनाज जैसे रागी, ओट्स की सलाह दी जाती है। प्रोटीन के अच्छे स्रोत जैसे चिकन, मछली, अंडे, पनीर, सोया, दाने और बीज की भी सिफारिश की जाती है। इसके अलावा, केंद्र ने ‘अखरोट, बादाम, जैतून का तेल जैसे

स्‍तनों को छूने पर होता है दर्द? ये हो सकते है इनके कारण..

Image
  नाज़ुक ब्रेस्ट होना बहुत नॉर्मल है, और आप इस समस्या से जूझने वाली अकेली व्यक्ति नहीं हैं। लेकिन क्यों महिलाओं में यह समस्या होती है।, लेकिन क्यों महिलाओं में यह समस्या होती है, जानने के लिए हमने बात की फोर्टिस अस्पताल, शालीमार बाग, की सीनियर कंसल्‍टेंट और गायनोकॉलोजिस्ट डॉ उमा वैद्यनाथन से। स्‍तनों में दर्द और तकलीफ होने के ये हो सकते हैं कारण 1. पीरियड्स होने से पहले ब्रेस्ट में दर्द की समस्या होती है डॉ वैद्यनाथन बताती हैं कि पीरियड्स होने से एक हफ्ते पहले ही ब्रेस्ट में दर्द होने लगता है। जब हम ओवयूलेशन स्टेज में होते हैं तो एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के स्तर में बदलाव आता है जिससे ब्रेस्ट में दर्द और टेंडरनेस आ जाती है। पीरियड्स से पहले भी ब्रेस्‍ट में दर्द हो सकता है। 2. हार्मोनल असंतुलन अगर आपके शरीर में हॉर्मोन्स असंतुलित हैं तो भी आपको नाज़ुक ब्रेस्ट की समस्या से जूझना पड़ सकता है। हॉर्मोन्स अंसतुलन का प्रमुख कारण है थायराइड। अगर आपको हमेशा ही ब्रेस्ट में दर्द होता है तो अपना थायराइड चैक करवाएं। 3. गलत फिटिंग की ब्रा अगर आपकी ब्रा का निशान आपकी स्किन पर बन रहा है, तो आप गलत साइज